Webmail
Kisan Call Center CALL TOLL FREE NUMBER 1800-180-1551 (from any Landline or Mobile) 1551 (from BSNL Landline)
           
प्रकृति प्रेम - एक अदभुत सफलता
प्रस्तुति :- षीतांषु षेखर, आत्मा नर्सरी, स्वंय सहायता समूह, पुरानीगंज, मुंगेर
मैं बचपन से ही पेड़ पौधे के प्रति आकर्शित रहा हूं और ज्यों- ज्यों मैं बड़ा होता गया त्यों-त्यों यह मेरे जीवन का अभिन्न अंग बनता चला गया। वत्र्तमान में मैं कुछ विषिश्ट व्यकितयों के सहयोग द्वारा एक अच्छे मुकाम तक पहुच गया हंू एवं मुझे उम्मीद है कि भविश्य में मैं एक श्रेश्ठतम स्थान प्राप्त कर सकूगा। इस लेख के माध्यम से मैं पाठकों को यह बताना चाहता हंू कि अपने इस प्रकृति प्रेम के कारण में कैसे सफल बन सका एवं यह लेख नौजवान पीढि़यों के लिए एक प्रेरणाश्रोत भी साबित होगा। मैं जब लगभग 6 वर्श का था तब मैं अपने पाकेट खर्च के पैसों से अकसर गमला खरीद लाया करता था एवं यथा संभव कोषिष कर कहीं से भी पौधों की व्यवस्था कर उसे उस गमले में लगा कर उसे अपने मकान के छत पर रखकर उसके रख-रखाव का पूरा ख्याल रखता था। इस कार्य के लिए मुझे अपने पारिवारिक सदस्यों का पूर्ण प्रोत्साहन प्राप्त था। इस कार्य के साथ-साथ मैं निरंतर अपनी पढ़ार्इ भी पूरी करता गया। मैं जब दसवीं कक्षा पास कर गया तब मेरे पास मेरे मकान के छत पर ही लगभग 400 से 500 प्रकार के पौधों के विभिन्न प्रजातियों का संकलन हो गया। तदोपरान्त मैंने अपने बन्धु-बान्धावों की सहायता से इन्हीं पौधों से नए पौधों को तैयार करना आरंभ किया एवं इन पौधों को विभिन्न नर्सरियों में देकर उसके द्वारा प्राप्त राषि से दुर्लभ प्रजातियों के पौधों का संकलन षुरू किया। इस प्रकार मेरे पास लगभग 700 से 800 प्रजातियों के पौधों का समूह हो गया जिसमें कि औशधीय, फलदार, फूलवाले, मौसमी, सजावटी, दुर्लभ प्रजाति, आदि के पौधे षामिल हैं।  
तदोपरान्त वनस्पति विज्ञान से स्नातक करने के बाद अपने मित्रगणों के सहयोग से मैनें एक स्वंय सहायता समूह का निर्माण किया एवं मुंगेर जिला के आत्मा कार्यालय से उस समूह का संबंधन करवा लिया। जिसका मुझे यह लाभ प्राप्त हुआ कि आत्मा कार्यालय के पदाधिकारियों के मदद से मुझे मेरे षौक के अनुरूप पेड़- पौधो के रख-रखाव एवं प्रजातियों के बारे में विषेश जानकारी प्राप्त होने लगी और इस क्षेत्र मे मैं निरंतर अग्रसर होता रहा। इस दरम्यान वर्श 2007-08 में किला क्षेत्र मे आत्मा कार्यालय, मुंगेर द्वारा एक किसान मेला का आयोजन किया गया जिसमे कि मेरे समूह को भी एक स्टाल लगाने की अनुभुति प्राप्त हुर्इ और मैं अपने समूह के सदस्यों की मदद से सुव्यवसिथत ढंग से स्टाल को लगाया। जब निरीक्षण के दौरान आत्मा कार्यालय के पदाधिकारी एवं मुंगेर जिला के विभिन्न पदाधिकारियों ने मेरे स्टाल में पौधों का संकलन देखा तो वे स्तब्ध रह गए। वे लोग मेरी भूरि-भूरि प्रषंसा करते हुए बोले कि इतने पौधों को संकलन एक उपलबिध से कम नहीं हैं। तत्पष्चात उनलोगों ने मुझे मागदर्षन दिया कि आप अपने इस षौक को नर्सरी का रूप देकर अच्छी आय प्राप्त कर सकते हैं। उनलोगों की यह बात मुझे जच गयी और मैं जिला कृशि कार्यालय, मुंगेर से आत्मा नर्सरी के नाम से संबंधन करवा लिया। वर्श 2007 में ही मुंगेर आत्मा कार्यालय द्वारा मुझे निर्देष दिया गया कि स्वंय सहायता समूह फेडरेषन, आत्मा, मुंगेर का किला क्षेत्र में प्रदर्षनी सह बिक्री केन्द्र हैं, जिसमें कि आपको अपने नर्सरी के उत्पादों को प्रदर्षन एवं बिक्री करना है। उसके बाद मैैंने एवं मेरे समूह के सदस्यों ने मिलकर सारे पौधों को वहा स्थानांतरित कर दिया एवं बिक्री करने लगा। उससे प्राप्त आय से मैं विभिन्न जगहों से नित नए-नए प्रजातियों के पौधों को लाकर बिक्री करने लगा एवं मेरी आय बढ़ने लगी। बीच बीच में आत्मा कार्यालय द्वारा कराये जा रहे परिभ्रमण कार्यक्रम के अन्र्तगत मुझे नए नए जगहों पर एक्पोजर विजिट एवं प्रषिक्षण करने का मौका मिला और मैं इस क्षेत्र मे दक्ष होता गया। धीरे धीरे मेरा कार्य क्षेत्र इतना बढ़ा कि मैं अपने देष के अनेक प्रांतो से पौधा लाने लगा। कुछ पौधे तो विदेषों से भी आयात किए जाते हैं। बिक्री होने वाले पौधों से में 60 प्रतिषत पौधे मेरे सदस्यों द्वारा तैयार किए जाते हैं एवं 40 प्रतिषत पौधे अपने षहर से बाहर से मगवाए जाते हैं। आज हमारे द्वारा उत्पादित पौधे मुंगेर जिला के साथ साथ अन्य जिलों में भी भेजे जाते है एवं मुंंगेर जिला के हर प्रखंड में बिक्री किए जाते है जिससे कि पौधों की प्रापित में लोगों को काफी सुविधा हो गयी है। हमारे इस नर्सरी में विभिन्न प्रकार के पौधों की बिक्री की जाती हैं। जिसमें कि मुख्य तौर पर औशधीय, ग्रह संबंधी, मषाले, सुगंधित पुश्प वाले विषिश्ट प्रकार के फलदार इत्यादि पौधे षामिल हैं। पौधों के साथ साथ जैविक खाद की भी बिक्री की जाती हैं जिसमें वर्मी कम्पोस्ट, नीम खल्ली, बदाम खल्ली, बोन डस्ट, हार्न मील, इत्यादि षामिल है। इन सब के साथ साथ यह जानकारी भी दी जाती है कि पौधों का उचित रख-रखाव कैसे किया जाए एवं पादप सुरक्षा के अन्र्तगत निरोग कैसे रखा जाए घ् आज हमारा नर्सरी निर्बाध रूप से निरंतर प्रगति पर है एवं हमारे सभी सदस्य प्राप्त होने वाले आय से पूरी तरह से संतुश्ट है। हमारे इस कार्य से संतुश्ट होकर वर्श 2008-09 में मेरे समूह को आत्मा कार्यालय, मुंगेर द्वारा उत्कृश्ट समूह के रूप में चूना गया एवं पुरस्कार स्वरूप मो0 20,000.00 (बीस हजार रू0) मात्र की राषि दी गयी । आज इस मुकाम तक पहुचने में आत्मा, मुंगेर एवं मेरे मित्रगण का पूरा पूरा श्रेय है जिन्होने कि उचित समय पर मेरा मार्गदर्षन किया और मुझे प्रोत्साहित किया। इस प्रकार अगर हम अपने मन एवं मसितश्क को सही दिषा मे प्रवाहित करें तो हमें निष्चय ही सफलता प्राप्त होगी। आज कृशि के क्षेत्र में एवं किसानों के हित में आत्मा जो कार्य कर रही है वो अत्यंत सराहनीय है। अत: अंत में मैं अपने बंधुओं से अनुरोध करूगा कि मार्गदर्षन प्राप्त कर अपने अन्दर की उर्जा को सही मार्ग पर लगाए एवं सफल तथा षांतिपूर्ण जीवन व्यतीत करें।
साभार :-
आत्मा नर्सरी स्वंय सहायता समूह
किला क्षेत्र, मुंगेर
फोन नं0 :- 9835547258, 9470889392
Work Plan
(Page-1) Work Plan of ATMA Munger
(Page-2) Work Plan of ATMA Munger
(Page-3) Work Plan of ATMA Munger
(Last Page) Work Plan of ATMA Munger
Asarganj,Munger
(Page-2)Asarganj,Munger
(Page-3)Asarganj,Munger
(Page-4)Asarganj,Munger
(Page-5)Asarganj,Munger
(Page-6)Asarganj,Munger
(Page-7)Asarganj,Munger
(Page-8)Asarganj,Munger
(Page-8)Asarganj,Munger
(Page-9)Asarganj,Munger
(Page-10)Asarganj,Munger
(Page-11)Asarganj,Munger
Bariyarpur,Munger
(Page-2)Bariyarpur,Munger
(Page-3)Bariyarpur,Munger
(Page-4)Bariyarpur,Munger
(Page-5)Bariyarpur,Munger
(Page-6)Bariyarpur,Munger
(Page-7)Bariyarpur,Munger
(Page-8)Bariyarpur,Munger
(Page-9)Bariyarpur,Munger
(Page-10)Bariyarpur,Munger
Dharhara,Munger
(Page-2)Dharhara,Munger
(Page-3)Dharhara,Munger
(Page-4)Dharhara,Munger
(Page-5)Dharhara,Munger
(Page-6)Dharhara,Munger
(Page-7)Dharhara,Munger
(Page-8)Dharhara,Munger
(Page-9)Dharhara,Munger
(Page-10)Dharhara,Munger
Haveli Kharagpur,Munger
(Page-2)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-3)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-4)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-5)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-6)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-7)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-8)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-9)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-10)Haveli Kharagpur,Munger
(Page-11)Haveli Kharagpur,Munger
Jamalpur,Munger
(Page-2)Jamalpur,Munger
(Page-3)Jamalpur,Munger
(Page-4)Jamalpur,Munger
(Page-5)Jamalpur,Munger
(Page-6)Jamalpur,Munger
(Page-7)Jamalpur,Munger
(Page-8)Jamalpur,Munger
(Page-9)Jamalpur,Munger
(Page-10)Jamalpur,Munger
Sadar Munger,Munger
(Page-2)Sadar Munger,Munger
(Page-3)Sadar Munger,Munger
(Page-4)Sadar Munger,Munger
(Page-5)Sadar Munger,Munger
(Page-6)Sadar Munger,Munger
(Page-7)Sadar Munger,Munger
(Page-8)Sadar Munger,Munger
(Page-9)Sadar Munger,Munger
(Page-10)Sadar Munger,Munger
(Page-11)Sadar Munger,Munger
(Page-12)Sadar Munger,Munger
Sangrampur,Munger
(Page-2)Sangrampur,Munger
(Page-3)Sangrampur,Munger
(Page-4)Sangrampur,Munger
(Page-5)Sangrampur,Munger
(Page-6)Sangrampur,Munger
(Page-7)Sangrampur,Munger
(Page-8)Sangrampur,Munger
(Page-9)Sangrampur,Munger
(Page-10)Sangrampur,Munger
Work Plan of Tarapur(all),Munger
Tetiya Bamber,Munger
(Page-2)Tetiya Bamber,Munger
(Page-3)Tetiya Bamber,Munger
(Page-4)Tetiya Bamber,Munger
(Page-5)Tetiya Bamber,Munger
(Page-6)Tetiya Bamber,Munger
(Page-7)Tetiya Bamber,Munger
(Page-8)Tetiya Bamber,Munger
(Page-9)Tetiya Bamber,Munger
(Page-10)Tetiya Bamber,Munger
(Page-11)Tetiya Bamber,Munger
Quick Links
Home
Home | SREP | Photo Gallery | Member Details | Video Gallery | About ATMA | Contact Us | About Us
Developed and Designed by : XMicrosystem